बस्ती चेतना में आप का स्वागत है। बस्ती चेतना पर विज्ञापन देकर सस्ते दरों का लाभ उठायें। संपर्क 7007259802

भैंस खा रही है बच्चों का निवाला

0 154

भरुच, गुजरातः (बीके पाण्डेय) भरुच में आंगनवाड़ी वर्करों ने बालकों के आहार पैकेट साठ रुपये में भैंसों के चारे के लिए बेंच दिया। घोटाले में संलिप्त 21 में से तीन आंगनवाड़ी वर्करो को पुलिस ने गिरफ्तार किया। इसके पहले सात आरोपी गिरफ्तार किए जा चुके थे। आईसी डीएस कार्यालय में से बालवाडी के बालकों के लिए दिए जाने वाले राशन पैकेट का जत्था बाहर ही बाहर भरवाड़ों को देने के घोटाले में भरुच तहसील पुलिस ने तीन आंगनवाड़ी वर्करों को गिरफ्तार किया।

घोटाले में अठारह आंगनवाड़ी वर्करों की संलिप्तता पुलिस की जांच में सामने आई है। पुलिस ने इस मामले में अभी तक पांच भरवाड, दो टेम्पो चालक व तीन आंगनवाड़ी वर्कर को मिलाकर कुल दस लोगो को गिरफ्तार किया है। भरुच तहसील के दयादरा गांव के खलिहान में पड़ाव डालकर रह रहे भरवाड़ों के झोपड़ों में से बाल वाडी के बालकों के लिए दिए जाने वाले टीएचआर (टेक होम राशन) के पैकेट का जत्था मिल आया था। इस आधार पर भरुच तहसील पुलिस स्टेशन में प्राथमिकी दर्ज कराई गई थी।

भरुच तहसील पंचायत कार्यालय के आईसीडीएस विभाग में से दिया जाने वाला जत्था भरवाड़ों के पास किस तरह से आया के बारे में जब जांच शुरु की गई तो चौंकाने वाले परिणाम सामने आये। आंगनवाड़ी वर्कर के रुप में काम करने वाली कई महिलाओं ने अपने पास आने वाले जत्थे को बालकों तक न पहुँचा कर सीधे भरवाड़ों को बेंचने का काम किया। पूरे रैकेट में 21 आंगनवाड़ी महिलाओं की पहचान की गई।

पुलिस ने इस मामले में आंगनवाड़ी वर्कर निमिषा योगेश पटेल निवासी वेसदरा,शहेनाज ईद्रीश वोरा पटेल निवासी हिंगलोट व कल्पना कपिल सिंह राज निवासी दशान को गिरफ्तार किया। अन्य की धरपकड़ के लिए पुलिस प्रयास कर रही है।

दो सप्ताह पहले ही दयादरा गांव में पुलिस ने पकड़ा था घोटालाः-भरुच तहसील पंचायत के आईीसडीएस (संकलित बाल विकास योजना) की बाल विकास अधिकारी रीटी बेन गढ़वी ने गत नौ जून को दयादरा गांव के खलिहान में मोहन तलावडी के पास पड़ाव डाल कर रह रहे भरवाड़ों के ठिकाने पर पुलिस को लेकर छापा मारा था। यहा पर पांच भरवाड़ों के झोपड़ों में से टीएचआर (टेक होम राशन) के 1905 भरे पैकेट व 1234 खाली पैकेट को जब्त किया गया था। इस आधार पर भरुच तहसील पुलिस स्टेशन में मामला पंजीकृत कराया गया था।

बालपोषाहार का उपयोग भैंसो के लिए होता था

सरकार द्रारा गरीब परिवार के बालकों क पोषण वाला आहार मिले इसके लिए पूर्णा शक्ति,मातृ शक्ति व बाल शक्ति को मिलाकर कुल तीन प्रकार के पोषक तत्वों के आहार के पैकेट को बाल वाडी के बालकों को दिया जाता है। इस पैकट को भरवाड़ों द्रारा साठ रुपयें के दाम से आंगनवाड़ी महिलाओं के पास से खरीद कर उसका उपयोग भैंसों के चारे के लिए किया जाता रहा।

इनका कहना है

भरुच तहसील पुलिस स्टेशन के पुलिस निरीक्षक पी.एस.गढ़वी ने कहा कि बालवाड़ी के लाभार्थी बालकों के लिए टेक होम राशन के पैकेट की हेराफेरी के मामले में अभी तक पांच भरवाड़, दो टेम्पो चालक व तीन आंगनवाड़ी कार्यकत्रियों को गिरफ्तार किया गया है। अन्य आंगनवाड़ी कार्यकत्रियों की गिरफ्तारी के लिए पूरा प्रयास किया जा रहा है। डीडीओ व कलेक्टर की मंजूरी हासिल कर ली गई है। सभी की जांच के हिसाब से चरणबध्द रुप से गिरफ्तारी होगी।

- Advertisement -

Government Ad
Leave A Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!